Pages

Follow by Email

Saturday, 4 June 2016

अब आसानी से अमेरिका जा सकेंगे भारतीय, MoU पर हुआ हस्‍ताक्षर


वाशिंगटन। इंटरनेशनल एक्सपेडिटेड ट्रैवलर इनिशिएटिव (ग्लोबल एंट्री प्रोग्राम) में प्रवेश पाने वाला अमेरिका के साथ भारत नौंवां देश बन गया है। अमेरिका के कुछ चुनिंदा एयरपोर्ट पर बिना किसी परेशानी प्रवेश पाने के लिए दोनों देशों ने MoU पर हस्ताक्षर किए। इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, अमेरिका के कुछ चुनिंदा एयरपोर्ट पर भारतीय यात्रियों को पहुंचने पर परेशानी न हो इसके लिए यह पहल की गयी है। अभी इसे लागू करने में
कुछ महीनों का समय लगेगा। अमेरिका में भारतीय राजदूत अरुण के सिंह और यूएस कस्टम एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन के कमिश्नर, केविन के मैकएलिनन के बीच MoU पर हस्ताक्षर किया गया। एक रिलीज में कहा गया है, ’दोनों देशों द्वारा संयुक्त जांच और क्लियरेंस मिलने के बाद, अप्रूव्ड भारतीय यात्रियों के अमेरिका के चुनिंदा एयरपोर्ट पर ऑटोमैटिक क्योस्क के माध्यम से प्रवेश की सुविधा को बढ़ाया जाएगा।‘ अरुण के सिंह ने इस अवसर पर कहा, अमेरिकी एयरपोर्ट्स पर इस कार्यक्रम के तहत भारतीय पर्यटकों के लिए शीघ्र प्रवेश से पर्यटन का आसान माहौल बनेगा और इसका साकारात्मक प्रभाव दोनों देशों के सभी तरह के लोगों पर पड़ेगा।‘उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों में भारत की सरकार द्वारा अमेरिका से भारत की यात्रा को आसान बनाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं जिसमें अमेरिकी नागरिकों के लिए लांग टर्म वीजाओं व इलेक्ट्रॉनिक टूरिस्ट वीजा भी शामिल है।ग्लोबल एंट्री प्रोग्राम में भारत के प्रवेश से दोनों देशों के बीच यात्रा आसान होगा और लोगों का आपसी गठबंधन भी मजबूत होगा। उन्होंने यह भी कहा कि 3 मिलियन से अधिक भारतीय मूल के लोगों का घर अमेरिका है, जिन्होंने भारत के साथ गहरे संबंध को बनाए रखा है।उन्होंने कहा,’ हमने देखा कि सभी क्षेत्रों प्रोफेशनल, बिजनेसमैन, टूरिस्ट व स्टूडेंट जैसे एक मिलियन हमारे नागरिक प्रत्येक वर्ष दोनों देशों के बीच यात्रा करते हैं। इस नये कदम से इन यात्रियों को सीधा लाभ मिलेगा।‘फिलहाल, 40 से अधिक अमेरिकी एयरपोर्ट पर ग्लोबल एंट्री प्रोग्राम उपलब्ध है। 1.8मिलियन लोगों ने ग्लोबल एंट्री के लिए एनरोल कराया है और प्रत्येक माह लगभग 50,000 नए एप्लीकेशन फाइल किए जाते हैं।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email