Pages

Follow by Email

Saturday, 4 June 2016

फ्रांस में भीषण बाढ़ के कारण पेरिस संग्रहालय बंद


पेरिस। मूसलाधार बारिश के कारण फ्रांस और जर्मनी में कई नदियों के तटबंध टूट गए हैं। बाढ़ के कारण पेरिस का विश्व प्रसिद्ध लॉवर अौर मूसी डी अोरसी म्यूजियम को बंद कर दिया गया है। यहां के सोइन नदी का जल स्तर काफी बढ़ गया है। बताया जा रहा है कि नदी का जलस्तर पिछले तीन दशक के सबसे उपर है।टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक यूरोप में मूसलाधार बारिश कहर बरपा रहा है। बाढ़ से अब तक 14 लोगों के
मारे जाने की खबर है। सड़कें पानी में डूब गई हैं, स्कूल बंद हैं और लोग मकानों की छतों पर फंसे हैं। हजारों घर अंधेरे में डूबे हुए हैं। सेइन नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण एफिल टॉवर भी कुछ दिन पहले पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। फ्रांस में सौ साल से ज्यादा लंबे समय के बाद इतनी भीषण बाढ़ आई है। शुक्रवार को सोइन नदी का जलस्तर करीब 6 मीटर(19.5 फीट) उपर था। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में और बारिश का अनुमान व्यक्त किया है। अधिकारियों के अनुसार बाढ़ से पेरिस, मध्य फ्रांस और जर्मनी का दक्षिणी प्रांत बावेरिया सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। बाढ़ के कारण 14 लोगों की मौत हो गई है। फ्रांस के प्रभावित इलाकों में 25 हजार घरों की बत्ती गुल हो गई है। हजारों लोग सुरक्षित जगहों पर पहुंचाए गए हैं। राट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने आपातकाल लागू कर दिया है। सेइन नदी का जलस्तर पांच मीटर बढ़ गया है। शुक्रवार तक इसके 5.5 मीटर तक बढ़ने का अनुमान हैं। 1910 में इसी नदी का जलस्तर 8.60 मीटर तक बढ़ गया था। उस समय बाढ़ ने फ्रांस की राजधानी में भीषण तबाही मचाई थी। फ्रांस में बाढ़ से अब तक करीब 20,000 से अधिक लोगों को निकाल लिया गया है और करीब 19,000 घरों में लोग बिना बिजली के रह रहे हैं। पेरिस के उपनगरों में बचाव व राहत का कार्य जारी है। फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा कि राज्य में प्राकृतिक आपदा घोषित किया जाएगा। अगले बुधवार को कैबिनेट की बैठक में आवश्यक कदम उठाने पर विचार किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email