Pages

Follow by Email

Friday, 10 June 2016

अमेरिका में भारतीय खाद्य सामग्री पर लगे सबसे ज्यादा प्रतिबंध, टॉप पर रहा हल्दीराम

नई दिल्ली/वॉशिंगटन। पिछले साल भारत के कई राज्यों में नेस्ले की मैगी पर प्रतिबंध के बाद कई और ऐसे मामले देश के बाहर भी सामने आए। अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन(एफडीए) ने अपनी वेबसाइट पर आंकड़े जारी किए उसके मुताबिक साल 2015 में बाकी देशों के मुकाबले सबसे ज्यादा भारतीय खाद्य सामग्रियों पर रोक लगायी गई। यूएसएफडी की वेबसाइट पर दिए आंकड़े के मुताबिक सबसे ज्यादा जिन स्नैक्स पर रोक
लगायी गई वह भारत के नागपुर के उत्पादक हल्दीराम के थे। फरवरी महीने में ‘इंपोर्ट रिफ्यूजल रिपोर्ट’ में सबसे ज्यादा हल्दीराम के उत्पाद थे जिस पर एफडीए ने कार्रवाई की थी। प्रतिबंध के बाद जो बयान जारी किया गया था उसके मुताबिक- “ये उत्पाद ठीक नही है क्योंकि इनमें कीटनाशक रसायनों का इस्तेमाल किया गया है जो धारा 402(ए)(2)(बी) का उल्लंघन है।”ये भी पढ़ें- हल्दीराम, एडवांसटेक और ब्रिटानिया का खाद्य नमूना फेल
वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक, अमेरिका में साल 2015 के दौरान आधे से भी ज्यादा जिन स्नैक्स उत्पादों को जांच पर उसे बिक्री करने से रोका गया वो सभी हल्दीराम के ही थे।रिपोर्ट में इन उत्पादों को बिक्री से रोकने की जो वजह बतायी गई वो थी- उन उत्पादों का ठीक तरीके से पैकेजिंग और लेबलिंग नहीं करना जिसके चलते वह उत्पाद अपेक्षा के अनुरूप खड़ा नहीं उतर पाया। एफडीए वेबसाइट ने कहा- भारतीय उत्पादों में कीटनाशों की बड़ी मात्रा, फफूंद और बैक्टीरिया पाए गए।
अमेरिकी एफडीए भारत के बाहर बने नेस्ले की मैंग्गी की भी जांच की। मैग्गी नूडल्स उस समय जांच के घेरे में आया था जब ये कहा गया कि इसमें तय सीमा से कही ज्यादा मोनोसोडियम ग्लूटामेट की मात्रा है। इसके साथ ही, एफडीए ने नेस्ले नूडल्स उत्पाद पर गलत ब्रांडिंग का आरोप लगाते हुए कहा कि लेबल पर जो मात्राएं छापी गई है वो उनमें मौजूद नहीं है।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email