Pages

Follow by Email

Thursday, 9 June 2016

इंदौर के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में फॉरेन कंपनियां करेगी इन्वेस्ट


इंदौर। मध्यप्रदेश में स्मार्ट सिटी योजना में फॉरेन इन्वेस्टर भी इन्वेस्ट करने के लिए इंटरेस्ट दिखा रहे हैं। दरअसल, राज्‍य सरकार ने पिछले दिनों बर्लिन में हुए मेट्रोपॉलिटन सॉल्‍यूशन 2016 सेमिनार में इंदौर शहर के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर प्रेजेंटेशन दिया था। इस सेमिनार में राज्य सरकार ने स्‍मार्ट सिटी प्रोजेक्‍ट और मोबिलिटी सिस्‍टम के तहत जर्मनी से हाथ मिलाया है। जर्मनी ने मध्‍य पद्रेश में विकास के लिए निवेश की
इच्‍छा जताई है।राज्‍य सरकार की पब्लिक मोबिलिटी प्‍लान के अंतर्गत जर्मनी का एक दल जल्‍द ही मध्‍य प्रदेश का दौरा करेगा और विभिन्‍न प्रोजेक्‍टस पर डील के अनुसार निवेश की संभावनाएं दिखाएगा। स्‍मार्ट सिटी प्रोजेक्‍ट के तहत मध्‍य प्रदेश के पीथमपुर को इंडस्ट्रियल सिटी की तौर पर विकसित करने का फैसला लिया है। सरकार यहां कई बड़े प्रोजेक्‍ट लगाने के लिए प्रयासरत है जिसके तहत विदेशी निवेश का सहयोग लेने पर‍ विचार किया जा रहा है ताकि शहर को स्‍मार्ट सिटी पर डेवलप करने का प्रोजेक्‍ट पूरा किया जा सके।
नर्मदा नदी को लिया गया प्राथमिकता पर
विदेशी निवेश और पीथमपुर को इंडस्ट्रियल सिटी बनाने के लिए नर्मदा नदी प्रोजेक्‍ट को प्राथमिकता से लिया है ताकि यहां जल्‍द से जल्‍द पानी की आपूर्ति शुरू की जा सके। मध्‍य प्रदेश सरकार ने पीथमपुर में पानी आपूर्ति के लिए बनी जल संवर्धन योजना का 260 करोड़ का प्रोजेक्‍ट मंजूर कर लिया है। एकेवीएन इंदौर दवारा जल्‍द ही इस प्रोजेक्‍ट पर काम करने के लिए टेंडर आमंत्रित किए जाएंगे।
विदेशी निवेश के साथ कई बड़े ग्रुप यहां ला रहे हैं अपनी यूनिट

बाबा रामदेव के पतंजलि ग्रुप के साथ ही अनिल अंबानी का डिफेंस पार्क व डाटा सेंटर पार्क, मदरसन सूवी कंपनी, माइक्रोमैक्स, अजंता फार्मा, क्रिकेट सेमीकंडक्टर कंपनी सहित कई ग्रुप यूनिट ला रहे हैं। सभी कंपनियों को पानी की अधिक जरूरत लगेगी, जिसके लिए इस काम में तेजी लाई गई है।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email