Pages

Follow by Email

Tuesday, 7 June 2016

राज्य में शुरू होगा 5000 करोड़ के पांच सड़क प्रोजेक्ट : गडकरी


रांची.केंद्र सरकार ने झारखंड को सड़कों और पुल की सौगात दी है। केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को कहा कि राज्य में पांच हजार करोड़ रुपए के पांच सड़क प्रोजेक्ट शीघ्र किए जाएंगे। इसकी लंबाई और निर्माण में खर्च की जाने वाली राशि तय कर ली गई है। इन प्रोजेक्ट्स में रांची-रड़गांव-महुलिया फोर लेन, बरही-हजारीबाग, जमशेदपुर-बहरागोड़ा,औरंगाबाद-बरवड्डा सिक्स लेन और गोविंदपुर-राजगंज
सड़क और बरही-रजौली फोर लेनिंग शामिल हैं। गडकरी प्रोजेक्ट भवन में उच्चस्तरीय बैठक के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास व सांसदों के साथ मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने रघुवर सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि 100 दिनों में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य के विकास को नई दिशा दी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि झारखंड में राष्ट्रीय राजमार्गों की स्थिति अच्छी नहीं है। इसके निर्माण और मरम्मत में कई तरह की समस्याएं और अड़चनें थीं, जो अब दूर कर ली गई हैं। मुख्यमंत्री, सांसद पीएन सिंह, सुनील कुमार सिंह, केंद्र तथा राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ हुई उच्चस्तरीय बैठक में समस्याएं पूरी तरह से सुलझा ली गई हैं। कई महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए गए हैं, जिससे राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण कार्य तेजी से आगे बढ़ेगा। गडकरी ने कहा कि बैठक में केंद्र ने लगभग छह हजार करोड़ रुपए की नई सड़कों को स्वीकृति दी है। राज्य सरकार द्वारा शुरू 1400 किमी लंबी सड़क का निर्माण कार्य भी अब केंद्र अपने हाथ में लेगा। इस प्रोजेक्ट पर लगभग 25000 करोड़ रुपये खर्च होंगे। >रांची-रड़गांव-महुलिया, बरही-हजारीबाग व जमशेदपुर-बहरागोड़ा : लंबाई 241 किमी। इस प्रोजेक्ट पर 1820 करोड़ रुपए खर्च होंगे। काम एक महीने में शुरू हो जाएगा।
>औरंगाबाद-बरवड्डा : लंबाई 152 किलोमीटर। 2500 करोड़ खर्च होंगे। इस प्रोजेक्ट को सितंबर तक मिलेगी नए सिरे से स्वीकृति। 
>गोविंदपुर-राजगंज : लंबाई 56 किलोमीटर। 523 करोड़ खर्च होंगे। अक्टूबर तक अवार्ड हो जाएगा। 
>महुलिया-बहरागोड़ा : 940 करोड़ रुपए खर्च होंगे। दिसंबर से पहले शुरू होगा। 
>बरही-रजौली : 518 करोड़ खर्च होंगे। मार्च 2016 तक होगा काम शुरू।
केंद्र देगा सड़क मरम्मत की राशि
गडकरी ने कहा कि सड़क निर्माण में विलंब से सड़कें खराब हो गई हैं। उन्होंने राज्य सरकार से कहा है कि वह मरम्मत करा ले। खर्च होनेवाली राशि केंद्र सरकार देगी।
उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र पर रहेगा विशेष जोर
गडकरी ने बताया कि सीएम से उन्होंने कहा है कि उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के युवा आदिवासियों को विशेष रूप से छोटे-छोटे वर्कशॉप के माध्यम से प्रशिक्षण दिए जाएं, ताकि 50 करोड़, एक करोड़, दो करोड़ के काम इनसे कराएं। इन्हें मशीनरी एडवांस, मोबलाइजेशन एडवांस दें, ताकि यही लोग काम करें। इस क्षेत्र के लिए 142.42 करोड़ का आवंटन दिया है। यह रािश राज्य ने खर्च कर दिया है।

केंद्र जारी करेगा 300 करोड़ रुपए अतिरिक्त
झारखंड में एनएच की लंबाई 2650 किमी है। इसमें झारखंड के पथ निर्माण विभाग के पास 1970 किमी और एनएचआई के पास 681 किमी लंबी सड़क है। पीडब्ल्यूडी के लिए केंद्र सरकार ने जो आवंटन दिया था, उसमें सीआरएफ में अब तक 506 करोड़ रुपये दिए हैं। बैठक में विशेष रूप से 300 करोड़ रुपए और देने का फैसला किया है। इस राशि से कैसे काम होगा, जानकारी राज्य सरकार केंद्र को देगी।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email