Pages

Follow by Email

Friday, 10 June 2016

11 सरकारी बैंको को 2020 तक 1.2 लाख करोड़ रपये पूंजी की जरूरत होगी : मूडीज

नयी दिल्ली, 10 जून ::रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा है कि भारतीय स्टेट बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के 10 अन्य बैंकों :पीएसबी: को 2020 तक 1.2 लाख करोड़ रपये की अतिरिक्त पूंजी की जरूरत होगी। यह जरूरत इन बैंकों को सरकारी योजना के तहत मिलने वाली प्रस्तावित पूंजी से कहीं ज्यादा है।सरकार ने 22 सरकारी बैंकों के लिए 2019 तक कुल 70,000 करोड़ रपए देने की योजना शुरू की है।


मूडीज इंवेस्टर्स सर्विस ने आज कहा कि 11 पीएसबी बैंकोें में 2020 तक 1.2 लाख करोड़ रपये के अतिरिक्त बुनियादी पूंजी निवेश की जरूरत होगी और इनमें बैंक ऑफ बड़ोदा एवं बैंक ऑफ इंडिया जैसे बैंक भी शामिल हैं।

गौरतलब है कि सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पुनर्पूजीकरण की 70 हजार करोड़ रपये की योजना में 25,000 करोड़ दे चुकी है। सरकार की योजना इसका ज्यादा से ज्यादा हिस्सा मौजूदा वित्त वर्ष में ही बैंकों में डालने की है।


वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को यदि जरूरत होगी तो सरकार उन्हें और कोष मुहैया कराएगी।

मूडीज के अनुसार, मार्च 2016 में खत्म हुए वित्त वर्ष में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के परिणामों को देखते हुए मूडीज का आकलन है कि 11 प्रमुख बैंकों में करीब 1.2 लाख करोड़ रपये डालने की जरूरत है। यह सरकार के बजट से 2020 तक पूंजी वितरण के बचे हुए 45,000 करोड़ रपयांे के प्रावधान से कहीं ज्यादा है।

मूडीज ने मार्च 2016 में खत्म वित्त वर्ष में बैंकों की कमाई का आकलन करते हुए कहा है कि इन बैंकों की परिसंपत्तियों :इनके द्वारा दिये गये रिणों: की गुणवत्ता अगले 12 महीने तक दबाव में बनी रहेगी। फंसे हुए कर्ज के लिए पूंजी प्रावधान की जरूरत बढने से उनका लाभ प्रभावित होने के साथ ही उनकी अंातरिक पूंजी उत्पादन क्षमता भी सीमित रहेगी।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email