Pages

Follow by Email

Tuesday, 31 May 2016

संगीतकार ए.आर. रहमान को मिला जापान का शीर्ष 'ग्रांड फुकुओका पुरस्कार'


संगीतकार ए आर रहमान को अपने संगीत के माध्यम से एशियाई संस्कृति में उत्कृष्ट योगदान के लिए जापान के शीर्ष ग्रांड फुकुओका पुरस्कार 2016 का विजेता घोषित किया गया है.
पुरस्कार समारोह के तहत रहमान को ‘फ्रॉम द हार्ट- द वर्ल्ड ऑफ ए आर रहमान्स म्यूजिक’ विषय पर व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किया गया है.
फुकुओका पुरस्कार समिति के सचिवालय ने 49 साल के रहमान को फिलिपीन के इतिहासकार अमेठ आर ओकांपो (अकादमिक पुरस्कार) और पाकिस्तान की यास्मीन लारी (कला और संस्कृति पुरस्कार) के साथ सम्मान के लिए चुना है.
जापान के फुकुओका शहर में 1990 में इस सालाना पुरस्कार की स्थापना की गयी थी. इसका उद्देश्य एशिया की अनोखी और विविधतापूर्ण संस्कृति को संरक्षित रखने और प्रोत्साहित करने के लिए काम करने वाले लोगों, संगठनों और समूहों के उत्कृष्ट कार्य को सम्मानित करना है.
रहमान ने मणि रत्नम की तमिल फिल्म ‘रोजा’ के साथ अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की और राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘रंगीला’ से उनका हिंदी सिनेमा से परिचय हुआ.
इसके बाद ‘बॉम्बे’, ‘दिल से’, ‘ताल’, ‘लगान’, ‘रंग दे बसंती’, ‘दिल्ली 6’, ‘रॉकस्टार’, ‘हाईवे’ और ‘तमाशा’ सहित बहुत सी फिल्मों में रहमान ने अपने संगीत का जादू जगाया.
डैनी बॉयल की ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ के गीत ‘जय हो’ से रहमान ने हॉलीवुड में अपने संगीतमय करियर की शुरूआत की. इस गीत ने दो एकेडमी अवार्ड और एक गोल्डन ग्लोब ट्राफी जीती.

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email