Pages

Follow by Email

Wednesday, 25 May 2016

अमेरिका में आयोजित इंटेल मेले में भारतीय छात्रों ने जमायी धाक


इंटेल के प्रसिद्व विज्ञान एवं इंजिनियरिंग मेले में कई भारतीय और भारतीय मूल के छात्र विजेता बन कर उभरे हैं। यह दुनिया का सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय कॉलेज पूर्व विज्ञान प्रतियोगिता है।
दुनिया भर के छात्रों ने लिया था हिस्सा
दुनिया भर के छात्रों ने इंटेल इंटरनेशनल साइंस एंड इंजिनियरिंग फेयर (आईएसईएफ) में हिस्सा लिया, जिसका आयोजन सोसाइटी फॉर साइंस एंड पब्लिक इन पार्टनरशिप ने फिनिक्स स्थित इंटेल फाउंडेशन के सहयोग से किया था। स्थानीय, क्षेत्रीय, प्रांतीय या राष्ट्रीय विज्ञान मेले में शीर्ष पुरस्कार जीत कर नौवीं से 12वीं कक्षा के छात्रों ने इंटेल आईएसईएफ 2016 में प्रतिस्पर्धा करने का अधिकार प्राप्त किया था।

कई भारतीय छात्रों ने जीता पुरस्कार
बायोमेडिकल इंजिनियरिंग श्रेणी में नई दिल्ली में बाराखंभा रोड स्थित मार्डन स्कूल के 17 वर्षीय श्रेयस कपूर ने मोबाइल फोन आधारित ऑप्टोमेट्री के लिए 1000 डॉलर का तीसरा पुरस्कार जीता। इसमें हाइब्रिड तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है। कपास में कीटों के प्रभावी जैव नियंत्रण में एक नवोन्मेषी रणनीति पर काम करने को लेकर नागपुर स्थित सेंटर प्वाइंट स्कूल की सुहानी सचिन जैन (15 वर्षीय) और दिव्य क्रांति (16 साल) को 1000 डॉलर का तीसरा पुरस्कार मिला है। इसके अलावा ट्रांसलेशनल मेडिकल साइंस श्रेणी में महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल, नई दिल्ली के छात्र 18 वर्षीय वासुदेव मालयन को भी तीसरा पुरस्कार मिला है। भारत के इन छात्रों के अलावा अमेरिका और आस्ट्रेलिया से भारतीय मूल के कई छात्रों ने भी पुरस्कार जीता है।

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email