Pages

Follow by Email

Saturday, 14 May 2016

संयुक्त राष्ट्र ने भारतीय झंडा लगे तेल टैंकर पर से प्रतिबंध हटाया


भारत के हस्तक्षेप के बाद संयुक्त राष्ट्र ने भारत का झंडा लगे तेल टैंकर पर प्रतिबंध हटाने को मंजूरी दे दी है। यह टैंकर लीबिया के पूर्वी भाग से 6.5 लाख बैरल तेल अवैध रूप से ले जा रहा था। लीबिया पर ऐसी सरकार का नियंत्रण है जिसे मान्यता प्राप्त नहीं है।

पोत परिवहन महानिदेशक दीपक शेट्टी ने जहाज से लीबिया वापस जाने तथा नेशनल ऑयल कारपोरेशन की निगरानी में पोर्ट जाविया में तेल की खेप वापस रखने को कहा। उसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने उक्त कदम उठाया।

भारतीय झंडा और समुद्री प्रशासन के प्रमुख शेट्टी ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंध लगाये जाने के 16 दिन के भीतर एमटी दिसतया अमेया पर प्रतिबंध हटा लिया।

टैंक मुंबई स्थित आर्या शिपिंग चार्टर्स की है जबकि इलेक्ट्रान्स शिपिंग प्राइवेट लि. :मुंबई: जहाज के चालक तथा तकनीकी प्रबंधक थे।

जहाज 25 अप्रैल को पूर्वी लीबिया के मरसा अल-हारिगा बंदरगाह से भारत के लिये रवाना हुआ था। इस तेल की बिक्री के पीछे गैर-मान्यता प्राप्त सरकार थी। हालांकि भारतीय अधिकारियों को जब यह पता चला कि संयुक्त राष्ट्र ने अवैध तरीक से लीबिया से कच्चा तेल ढो रहे जहाज पर 26 अप्रैल को प्रतिबंध लगा दिया, उसके बाद टैंकर को माल्टा में ही रूकने को कहा गया।

लीबिया के संयुक्त राष्ट्र में राजदूत इब्राहिम दाबाशी ने टैंकर पर प्रतिबंध लगाने के लिये 15 सदस्यीय प्रतिबंध समिति को पत्र लिखा था।

No comments:

Post a comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email