Pages

Follow by Email

Saturday, 28 May 2016

भारतीय तटरक्षक बल के जहाज आरुष का जलावतरण


भारतीय तटरक्षक बल के जहाज आरुष का 26 मई 2016 को तटरक्षक बल कमांडर (पश्चिमी समुद्रीसीमा) अतिरिक्त निदेशक जनरल एसपीएस बसरा द्वारा कोच्ची में जलावतरण किया गया.
इसका नाम आरुष रखा गया है, जिसका अर्थ है सूर्य की पहली किरण. आरुष तीव्र पेट्रोल वाहनों (एफपीवी) की श्रेणी में सातवां जहाज है, जबकि इस बेड़े में 20 जहाज शामिल किए जायेंगे.

आईसीजीएस आरुष

•    स्वदेश निर्मित 50 मीटर लम्बे इस एफपीवी का वजन 421 टन है तथा यह 1500 नॉटिक्ल्स माइल्स के साथ अधिकतम 33 नॉट्स की गति प्राप्त कर सकता है. 

•    यह अत्याधुनिक आयुध एवं नेविगेशन साजो-सामान से सुसज्जित है.

•    इसे निगरानी, खोज और बचाव और चिकित्सा कार्यों में प्रयोग किया जा सकता है.

•    इसमें इंटीग्रेटेड ब्रिज मैनेजमेंट सिस्टम (आईबीएमएस) एवं इंटीग्रेटेड मशीनरी कंट्रोल सिस्टम (आईएमसीएस) लगाए गये हैं.

•    यह कोस्ट गार्ड क्षेत्र (उत्तर पूर्व) के कमांडर के अधीन पोरबंदर में तैनात रहेगा.

•    इसका संचालन कमान्डेंट प्रमोद पोखरियाल द्वारा किया जायेगा तथा इसपर 33 अधिकारी भी तैनात रहेंगे.

पृष्ठभूमि

तीव्र पेट्रोल वाहन भारतीय तटरक्षक बल के विशेष सहयोगी हैं. सामुद्रिक सुरक्षा के लिए तटरक्षक बलों का होना अति आवश्यक है.

अगले कुछ वर्षों में भारतीय तटरक्षक बल में 150 जहाज एवं 100 वायुयान शामिल होंगे. इसके अतिरिक्त तटरक्षक निगरानी के लिए 46 स्टेशनों पर नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किये जायेंगे.

No comments:

Post a Comment


This free script provided by
JavaScript Kit

Follow by Email